Thursday, September 5, 2019

Physiotherapy course | What is physiotherapy | full details

Physiotherapy Course | What is Physiotherapy 

नमस्कार दोस्तों, करियर सनेडो में आपका स्वागत है। दोस्तों ये पोस्ट काफी इम्पोर्टेन्ट होने वाली है। अगर आप मेडिकल के फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते है लेकिन MBBS, BHMS और BAMS जैसे महंगे कोर्स अफ़्फोर्ड नहीं कर पा रहे है या ऐसे मेडिकल कोर्सेज में मेरिट नहीं बन रहा है तो तो चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है। क्यों की इस पोस्ट में, में आपके लिए ऐसे अल्टरनेटिव फील्ड के बारे में बताने वाला हु जिसमे करियर की ढेर सारी ओपोर्ट्युनिटी है और आगे फ्यूचर में भी ये फील्ड काफी ग्रो होने वाली है। दोस्तों वो फील्ड है फिजियोथेरेपी ( Physiotherapy Course ) । आपमेसे कई लोगो ने फिजियोथेरेपी के बारे में सुना भी होगा और कई लोगो को पता भी होगा की फिजियोथेरेपी क्या है ( What is physiotherapy )। लेकिन अगर आप फिजियोथेरेपी फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते है तो ये पोस्ट जरूर से पढ़ना क्यों की इस पोस्ट में फिजियोथेरेपी को हम करियर प्रॉस्पेक्ट से देखेंगे की फिजियोथेरेपी क्या है , फिजियोथेरेपी में करियर के लिए कितनी ओपोर्ट्युनिटी है, कितने कोर्सेज अवेलेबल है ( Physiotherapy course )और एक फ़िज़ियोथेरेपिस्ट कितनी कमाई कर सकता है इत्यादि टॉपिक्स के बारे में इस पोस्ट में , में आपको बताऊंगा तो कृपया इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े।

1. फिजियोथेरेपी क्या है | What is Physiotherapy

फिजियोथेरेपी यानी फिजिकल थेरेपी ( Physical therapy )। जिस प्रकार से अलोपथी में मेडिसिन और केमिकल वाली दवाइओ से की बीमारियों ठीक किया जाता है वैसे ही फिजियोथेरेपी में फिजिकल ट्रीटमेंट देके बीमारियों को सही किया जाता है, जैसे की एक्सरसाइज या फिर एलेक्ट्रो थेरेपी ( electrotherapy )देके  इलाज करना ।  इसमें दवाइयों को नहीं दिया जाता , बिना दवाई से ही बिमारी को सही किया जाता है। दोस्तों कई सारी बीमारिया ऐसी होती है जिसमे मेडिसिन और अलोपथी इतना असरकारक नहीं होता है।  जैसे की पैरालिसिस हो गया , स्नायु  का प्रॉब्लम हो गया , मानसिक तनाव , घुटनो और जोड़ो में दर्द होना इत्यादि। ऐसी बीमारियो में फिजियोथेरेपी बहुत ही एफ्फेक्टिवली काम करता है और बीमारियों को  सही कर सकता है। कई फ़िज़ियोथेरेपिस्ट ( Physiotherapist ) होते है जो कम मात्रा में दवाई भी देते है।  लेकिन कुल मिलाके फिजियोथेरेपी ( Physiotherapy course ) में  दवाई का ना के बराबर उपयोग होता है।

2. फिजियोथेरेपी में करियर बनाने के लिए उपलब्ध कोर्स। Physiotherapy Course

दोस्तों अगर आप अपना करियर फिजियोथेरेपी में बनाना चाहते है तो इसमें मुख्यतः 12th के बाद 2 कोर्स अवेलेबल है।
  • BPT ( Bachelor of Physiotherapy )
  • DPT ( Diploma of Physiotherapy )
BPT कोर्स ( BPT course ) 4 साल का कोर्स होता है।  और उसके बाद 6 महीने की इंटर्नशिप होती है तो कुल मिलाके साडे 4 साल का ये कोर्स होता है। जिसमे एडमिशन लेने के लिए आपको 12th साइंस PCB ( फिजिक्स , केमेस्ट्री और बायोलॉजी ) के साथ लघुतम 50 प्रतिशत मार्क्स से कम्पलीट किया हुआ होना चाहिए।  अगर BPT Bachelor of Physiotherapy ) कोर्स की  फीस की बात करे तो गवर्नमेंट कॉलेजेस में 20000 रूपये से लेके 30000 रूपये के बिच रहता है जबकि प्राइवेट कॉलेजेस में 50000 रूपये से लेके 1.5 लाख तक रहता है या किसी बड़े कॉलेज में इससे भी ज्यादा फीस रहता है।

DPT कोर्स ( DPT course ) 2 साल का कोर्स होता है। इसमें भी एडमिशन लेने के लिए आपको 12th साइंस PCB ( फिजिक्स , केमेस्ट्री और बायोलॉजी ) के साथ लघुतम 50 प्रतिशत मार्क्स से कम्पलीट किया हुआ होना चाहिए।  अगर DTP ( Diploma in Physiotherapy ) कोर्स की  फीस की बात करे तो इसमें BPT कोर्स से थोड़ी सी कम फीस रहती है जिसमे गवर्नमेंट कॉलेजेस में 10000 रूपये से लेके 20000 रूपये के बिच रहता है जबकि प्राइवेट कॉलेजेस में 25000 रूपये से लेके 1.5 लाख तक रहता है या किसी बड़े कॉलेज में इससे भी ज्यादा फीस रहता है।
  

3. फिजियोथेरेपी में  ओपोर्ट्युनिटीज़  | Career Opportunities and Job scope in Physiotherapy

अगर आप क्रिकेट या फिर कोई भी स्पोर्ट्स टेलीविज़न पर देखते होंगे तो आपको पता होगा की जब किसी प्लेयर को चोट लगती है या फिर स्नायु में प्रॉब्लम आती है तो एक इंसान भागता हुआ उसके पास आके उस प्लेयर को स्ट्रेचिंग और एक्सरसाइज करवाएगा।  तो दोस्तों वो जो इंसान भागता हुआ आके प्लेयर की स्ट्रेचिंग करवाता है वो फ़िज़ियोथेरेपिस्ट होता है।  और ऐसे हर खिलाड़ी, एक्टर ,एक्ट्रेस और पॉलिटिशियन जैसे लोग अपना एक पर्सनल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट रखते  ही है।  तो आप समज सकते है की इस फील्ड में कितनी ओपोर्ट्युनिटी है।  तो हमारे देश में लोग जैसे जैसे फिजियोथेरेपी के प्रति कॉन्शियस हो रहे है वैसे वैसे अच्छे  फ़िज़ियोथेरेपिस्ट की डिमांड भी काफी बढ़ रही है।
नोर्मली अगर बात करे तो गांव के लोगो को जब कोई सर्जरी होती है या फिर ऐसी कोई बिमारी होती है जिसमे फ़िज़ियोथेरेपिस्ट की जरुरत पड़ती है। तो आपने नोटिस किया होगा की उनको थेरेपी लेने के लिए दूर किसी शहर में जाना पड़ता है , और दोस्तों फिजियोथेरेपी में एक दो दिन का इलाज नहीं होता। कई बार मरीज को लगातार 6 महीने तक भी इलाज चलता है। तो  के लिए काफी मुश्किल  हो जाती है बार बार दूर तक जाने में तो आप अपने गांव के आसपास फिजियोथेरेपी सेंटर ( Physiotherapy center )भी शुरू कर सकते है।
और आगे बात करे तो प्राइवेट हॉस्पिटल्स में भी अच्छे फ़िज़ियोथेरेपिस्ट की काफी मांग रहती है।  प्राइवेट हॉस्पिटल्स में भी आप जॉब कर सकते है। उसके आलावा आप लेक्चरर भी बन सकते है। कुल मिलाके बात ये है की इस फील्ड में आप बेरोजगार नहीं रहेंगे।

4. फैसिओथैपिस्ट की सैलरी। Salary in Physiotherapy

अगर आप गवर्नमेंट में जॉब ( Govt jobs ) लेते है तो इसमें आपकी सैलरी 30000 रूपये प्रति माह से ऊपर ही रहती है।  और अगर आप किसी प्राइवेट अस्पताल में जॉब करेंगे तो आपको 15000 रूपये से लेके 25000 रूपये  तक की सैलरी मिल जाती है। उसके आलावा भी आप खुद का फिजियोथेरेपी सेंटर शुरू करके अच्छी खासी कमाई कर सकते है अगर आपमें टेलेंट है तो। और आप इसमें और ज्यादा पढाई करके और अपनी स्किल को डेवेलोप करते है तो आप किसी बड़े नेता, अभिनेता या खिलाड़ी के पर्सनल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट भी बन सकते है।  वो डिपेंड करता है आपके नॉलेज और स्किल पर।
तो दोस्तों इस पोस्ट में मेने आपको फिजियोथेरेपी फील्ड के बारे में जानकारी दी। जिसमे मेने बताया की फिजियोथेरेपी क्या है उसमे कौनसे  कौनसे कोर्स है। करियर के लिए क्या क्या ओपोर्ट्युनिटी है और कितना सैलरी मिल सकता है। उम्मीद करता हु की आपको ये पोस्ट पसंद आये। धन्यवाद।  

मेरी और भी पोस्ट पढ़े 

Top 10 Paramedical courses in India | Best paramedical courses

Disqus Comments