Study abroad | विदेश में पढाई क्यूँ | 2018 

Study abroad |विदेश में पढाई क्यूँ

नमस्कार दोस्तों करियर सनेडो के इस पोस्ट में आपका स्वागत है। आज का हमारा विषय है विदेश में पढाई (Study abroad)क्यों महत्वपूर्ण है ?

 

आज अगर हम देखे तो इंडिया एजुकेशन में बहुत ही पीछे है। हमारे पास 35 करोड़ युवा है मतलब की बड़े बड़े देशो की पूरी जनता से भी ज्यादा। लेकिन फिर भी हम उनसे पीछे  है उसकी सबसे बड़ी वजह यह है की हमारे पास उनके जितना और उनके जैसा एजुकेशन नहीं है। और इसी कारन से हम उनसे कही न कही पीछे रह जाते है। वहा के स्टूडेंट्स की कम्युनिकेशन स्किल , आत्मविश्स्वास का स्टार बहुत ऊँचा होता है।

study abroad

तो दोस्तों अगर हम विदेश अभ्यास करने जाते है तो हमे एक मजबूत शैक्षाणिक बैकग्राउंड मिलेगा , टेक्नीकली एडवांस्ड वातावरण मिलेगा , और बहुत सारा प्रैक्टिकली अनुभव मिलेगा इससे न सिर्फ हमारी कम्मुनिकेशन स्किल और आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी बल्कि। विश्वस्तर के लोगो के साथ काम करने का अनुभव , परस्पर समजुती में बढ़ौतरी होगी।

दोस्तों इस पोस्ट का मतलब  यह बिलकुल ही नहीं है की आप विदेश में सेटल हो जाओ। इस पोस्ट का उद्देश्य यही है की हम एक अच्छा एजुकेशन , नॉलेज और अच्छा वातावरण के माध्यम से अपने आप को थोड़ा और बेहतर बनाये और वहां से जो हमे अच्छा सिखने मिले वो हम अपने देश में इम्प्लीमेंट करके अपने देश को भी और बेहतर बना सके। उम्मीद करता हु आपको यह पोस्ट पसंद आये।

दोस्तों अभी इस ब्लॉग की शुरुआत है आगे हम सारी चीजे देखंगे की विदेश में पढ़ने कैसे जाए , विदेश में पढाई के लिए कौनसे देश में कितना खर्चा आएगा।

और करियर के बारे में और भी गाइडेंस इस ब्लॉग के माध्यम से आपको मिलेगा। तो कृपया हमारे साथ बने रहिए।

धन्यवाद

Career after HSC

Career after SSC

 

Leave a Reply